डायबिटिक रेटिनोपैथी और इंट्राविट्रियल इंजेक्शन

Local Ophthalmologist

HealthChoicesFirst practitioner

Dr. David Ehmann

Ophthalmologist
Philadelphia, Pennsylvania
Dr. Eli Moses

Dr. Eli Moses

Cataract, Cornea, & Refractive Surgeon
Ophthalmologist
Fairfield, NJ
Dr. Shyam Patel

Dr. Shyam Patel

MD Cataract, Cornea, & Refractive Surgeon
Ophthalmologist
Fairfield, NJ

डॉ. अमित गुप्ता, एमडी, एफएसीएस, नेत्र विशेषज्ञ, डायबिटिक रेटिनोपैथी के कारण और उसके इलाज के बारे में बताते हुए।

डॉ. अमित गुप्ता, एमडी, एफएसीएस, नेत्र विशेषज्ञ, डायबिटिक रेटिनोपैथी के इलाज और नियमित रूप से आँखों की जांच कराने का महत्व के बारे में बताते हुए।

डायबिटीज और कैसे यह आपकी आँखों को प्रभावित कर सकती है

डायबिटीज का मतलब है कि आपकी शुगर जो है ज़्यादा हो रही है। शुगर से जो है आपके पूरे शरीर में डैमेज होता है। इसकी वजह से आँखों में भी काफी असर होता है। अगर आपको डायबिटीज कंट्रोल करनी है तो 3 तरीके हैं। उसमें एक तो है जो दवाएं डॉक्टर देता है वो देनी ज़रूरी हैं। दूसरा है कि आपको एक्सरसाइज़ करनी चाहिए और सबसे ज़रूरी है कि परहेज़ करना। खाना जो है ठीक होना चाहिए। इसका मतलब है, कि चीनी मीठा तो एकदम नहीं खाना चाहिए, चावल एकदम नहीं खाना चाहिए, भुट्टा भी नुकसान करता है, क्योंकि उसमें भी बहुत चीनी होती है, और किसी चीज़ में स्टार्च ज़्यादा हो कम खाना चाहिए, जैसे आलू।

अगर आपकी शुगर हाई होगी तो आपको महसूस एकदम नहीं होगा। लेकिन महसूस होगा जब आपकी रौशनी कटने लगेगी, आँखों में खून आने लगेगा, आँखों के अंदर बाहर से कुछ नहीं दिखाई देगा। लेकिन तब तक बहुत देर हो गई है। कई साल लगते हैं ऐसा होने में। आपको शुरू से अपना परहेज़ और अपनी दवाएं लेनी चाहिए, एक्सरसाइज़ करनी चाहिए। अगर आप इसके बारे में और जानना चाहते हैं तो अपने आई-डॉक्टर से बात करिए और वो आपको बताएंगे कि क्या करा जा सकता है।

Presenter: Dr. Amit Gupta, Ophthalmologist, Scarborough, ON

Local Practitioners: Ophthalmologist

डायबिटिक रेटिनोपैथी और इंट्राविट्रियल इंजेक्शन

हाई शुगर की वजह से, आपकी शुगर जब ऊंची होती है, डायबिटिक रेटिनोपैथी होती है आँखों में। इसका मतलब है कि पर्दे में सूजन, पर्दे में खून, और धीरे-धीरे रौशनी कट सकती है, नई नसें उग सकती हैं अंदर, और ये नई नसें अच्छी नहीं हैं क्योंकि धीरे-धीरे ये भी टूट के खून हो जाएगा आँख के अंदर, अचानक दिखाई नहीं देगा या ये बड़ी हो कर पर्दे को ही फाड़ देंगी जिससे आपको कुछ नहीं दिखाई देगा। अगर इसको ध्यान ना दें, बाद में इसको ठीक करना ज़्यादा मुश्किल हो जाता है। तो सबसे अच्छा है कि आप पहले से ही, शुरू से ही, एग्ज़ामिन करवा लें।

कई बार, आपकी डायबिटिक रेटिनोपैथी जो होती है आँखों में पर्दे में जब सूजन होती है इंजेक्शन की ज़रूरत पड़ेगी। आपका डॉक्टर कहेगा कि इंजेक्शन की ज़रूरत है। आजकल के ज़माने में ये सबसे अच्छा ट्रीटमेंट है आँखों के लिए, क्योंकि पर्दे में जब आपके सूजन है इस दवाई से वो काफी सही हो सकती है। हो सकता है आपकी रौशनी वापिस आ जाए इसकी वजह से। उम्मीद तो है, क्योंकि बहुत लोगों को फायदा हो चुका है इससे। और सबसे बड़ी बात है कि और रौशनी नहीं कटेगी इसके बाद। ये दवाएं इंजेक्ट करी जाती हैं पिछले 15 साल से। और जब से ये आई हैं बहुत लोगों की विज़न रौशनी आँखों में बच गई है। अब वो लोग काम कर सकते हैं। और इसके बिना वो काम करने लायक नहीं रहते क्योंकि उनको कुछ दिखाई नहीं दे रहा था।

अगर आपको इसके बारे में और जानकारी करनी है तब आई-डॉक्टर से बात करें।

Presenter: Dr. Amit Gupta, Ophthalmologist, Scarborough, ON

Local Practitioners: Ophthalmologist

डॉ. अमित गुप्ता, एमडी, एफएसीएस, नेत्र विशेषज्ञ, डायबिटीज और डायबिटिक रेटिनोपैथी की रोकथाम के लिए क्या किया जा सकता है इसके बारे में बताते हुए।

DIABETIC RETINOPATHY

DIABETIC RETINOPATHY